केंद्र सरकार ने मानी बिहार और पंजाब की मांग, मजदूरों व छात्रों को घर के लिए चलाएगी स्पेशल ट्रेन


हमने आप को कल एक रिपोर्ट मई बताया था की केंद्र सर्कार जल्द ही फसे हुए मजदुर और छात्रों को घर भेजने की तयारी कर रही है। आज केंद्र सर्कार ने सभी फसे हुए लोगो को उन के घर पहोचने के लिए स्पेशल ट्रैन चलने की अनुमति देदी है।


लॉकडाउन के 35 वे दिन मिली बड़ी राहत, देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे प्रवासी जा सकेंगे घर।


कोरोना लॉकडाउन के बीच देश के विभिन्न राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए अब केंद्र सरकार ने स्पेशल ट्रेन चलाने का फैसला किया है। इससे पहले कल ही गृह मंत्रालय ने इनकी घर वापसी के लिए नई गाइडलाइंस जारी की थी, जिनमें कई तरह की छूट दी गई थी।


गृह मंत्रालय ने पहले बसों से इनकी वापसी सुनिश्चित करने का आदेश जारी किया था, अब ट्रेन के जरिए भी देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे हुए लोगों की आवाजाही के लिए निर्देश दिया है। राज्य सरकारें और रेल मंत्रालय ये आवाजाही सुनिश्चित करेंगे।


रेलवे ने कहा है कि जिस राज्य से मजदूर घर के लिए रवाना होंगे, वहां की सरकार को उनकी जांच करनी होगी। एसिंप्टोमेटिक को ही यात्रा की इजाजत होगी। राज्य को मजदूरों को समूह में स्टेशन तक सैनिटाइज किए हुए बसों में लाना होगा। 



बिहार और पंजाब सहित 4 राज्यों ने की थी स्पेशल ट्रेन की मांग बिहार, पंजाब, तेलंगाना और केरल ने केंद्र सरकार से लोगों को लाने के लिए विशेष ट्रेन चलाने की मांग की थी। राज्यों ने कहा था कि लोगों की संख्या काफी है। ऐसे में बसों से इन लोगों को घरों तक पहुंचाने में काफी समय लग जाएगा। वहीं, संक्रमण का भी खतरा रहेगा, क्योंकि कई राज्यों से होकर आना होगा।



दरअसल, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बुधवार को दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों, छात्रों, तीर्थयात्रियों और अन्य लोगों को अपने गृह राज्यों में जाने की अनुमति दे दी है। हालांकि तय नियम-कायदों के तहत ही इन लोगों को बसों के जरिये एक राज्य से दूसरे राज्य भेजे जाने को कहा गया है।


तेलंगाना से झारखंड के लिए चली स्पेशल ट्रेन

लॉकडाउन में फंसे 1200 मजदूरों को लेकर तेलंगाना से झारखंड के लिए पहली स्पेशल ट्रेन आज यानी शुक्रवार को रवाना हो गई। बता दें कि लॉकडाउन में फंसे मजदूरों के लिए यह किसी बड़े राहत से कम नहीं है। हालांकि, आगे और कितनी ऐसी ट्रेनें चलेंगी, अभी इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है।


रेलवे सुरक्षा बल के महानिदेशक अरुण कुमार ने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया कि तेलंगाना से खुली इस स्पेशल ट्रेन के 24 डिब्बों में लगभग 1200 प्रवासी हैं। अधिक ट्रेनें चलाई जाएंगी या नहीं, इस पर निर्णय आज लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि ट्रेन आज सुबह 4:50 बजे तेलंगाना के लिंगरपल्ली से खुली है, जो झारखंड के हटिया जा रही है। 


ओडिशा के लिए भी रवाना होगी स्पेशल ट्रेन

तेलंगाना के बाद अब केरल के एर्नाकुलम से ओडिशा के लिए स्पेशल ट्रेन आज शाम रवाना होगी। इस स्पेशल ट्रेन में कुल 1200 प्रवासी श्रमिक होंगे जो कि अपने घर के लिए लौटेंगे। केरल सरकार में मंत्री वी एस सुनील कुमार ने यह जानकारी दी है। हालांकि अभी तक ट्रेन की टाइमिंग के बारे में जानकारी नहीं मिली है कि ट्रेन एर्नाकुलम से कितने बजे रवाना होगी।

0 व्यूज

Subscribe Our Letter

  • White Facebook Icon

© 2019 all right reserved Hind Daily . Proudly powered by Hind Classes