नागरिकता बिल | बांग्लादेश के विदेश मंत्री के बाद अब गृहमंत्री का भी भारत दौरा रद्द


बांग्लादेश के विदेश मंत्री ए के अब्दुल मोमेन द्वारा भारत दौरे को रद्द किए जाने के बाद बांग्लादेश के गृह मंत्री असदुज्जमां खान ने भी अपना भारत दौरा रद्द कर दिया है। दोनों का यह दौरा नागरिकता संशोधन विधेयक के पारित होने से उत्पन्न स्थितियों के चलते हुआ है। न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार, मोमेन ने गुरुवार से शुरू होने वाली अपनी तीन दिवसीय भारत यात्रा आज यहां पहुंचने के निर्धारित समय से चंद घंटे पहले अचानक रद्द कर दी।


इससे एक दिन पहले उन्होंने कहा था कि बांग्लादेश में धार्मिक अल्पसंख्यकों के उत्पीड़न संबंधी भारत के केंद्रीय गृह मंत्री की टिप्पणियां असत्य हैं। वहीं, बांग्लादेश के गृह मंत्री खान को तीन दिवसीय भारत यात्रा पर मुख्यत: बांग्लादेश के स्वतंत्रता संग्राम से संबंधित एक कार्यक्रम में शामिल होने शुक्रवार को शिलांग पहुंचना था।


विदेश मंत्रालय ने कहा कि मोमेन ने कार्यक्रम संबंधी मुद्दों की वजह से 12 से 14 दिसंबर तक चलने वाली अपनी भारत यात्रा रद्द करने की सूचना दी है। इसने यह भी कहा कि शाह ने बांग्लादेश में सैन्य शासन के दौरान धार्मिक अल्पसंख्यकों का उत्पीड़न होने की बात कही थी, न कि वर्तमान सरकार के तहत। राजनयिक सूत्रों ने कहा कि मोमेन ने भारतीय संसद में नागरिकता संशोधन विधेयक पारित होने के बाद उत्पन्न स्थितियों के चलते यात्रा न करने का फैसला किया है।


विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने एक मीडिया ब्रीफिंग में कहा, ''बांग्लादेश की तरफ से सूचना दी गई है कि मंत्री ने बांग्लादेश में 16 दिसंबर को 'विजय दिवस कार्यक्रम से जुड़े घरेलू मुद्दों के चलते अपने कार्यक्रम में बदलाव किया है।


उन्होंने कहा, ''ऐसी कोई भी अटकल निराधार है जिसमें यह कहा जाए कि यह घटनाक्रम बुधवार को संसद द्वारा नागरिकता संशोधन विधेयक के पारित होने से जुड़ा है। कुमार ने कहा कि दोनों देशों के बीच संबंध ''स्वर्णिम दौर से गुजर रहे हैं। उधर, ढाका में जारी एक बयान में मोमेन ने कहा कि उन्हें अपनी व्यस्तताओं के चलते भारत की यात्रा रद्द करनी पड़ी और वह जनवरी में भारत यात्रा को लेकर आशान्वित हैं।


इससे पहले विदेश मंत्रालय द्वारा जारी सूचना के अनुसार मोमेन को आज शाम पांच बजकर बीस मिनट पर नयी दिल्ली पहुंचना था। मोमेन ने कहा ,''मुझे भारत का दौरा रद्द करना पड़ा क्योंकि मुझे 'बुद्धिजीवी दिवस और 'विजय दिवस में भाग लेना है। इसके अलावा हमारे राज्य मंत्री मैड्रिड में हैं और विदेश सचिव हेग में हैं।'


बांग्लादेश सरकार ने एक बयान में कहा कि देश में 'व्यस्तताओं के कारण विदेश मंत्री को भारत दौरा रद्द करना पड़ा। नागरिकता (संशोधन) विधेयक बुधवार को राज्यसभा में पारित हो गया। इससे पहले यह विधेयक सोमवार को लोकसभा में पारित हुआ था। अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान में धार्मिक प्रताड़ना के कारण 31 दिसंबर 2014 तक भारत आए गैर मुस्लिम शरणार्थी -- हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों-- को भारतीय नागरिकता प्रदान करने का विधेयक में प्रावधान किया गया है। मोमेन ने बुधवार को ढाका में कहा था कि नागरिकता विधेयक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र के रूप में भारत के ऐतिहासिक चरित्र को कमजोर कर सकता है।

3 views0 comments
No tags yet.